शिक्षक दिवस क्यों मनाया जाता है, जानें शिक्षक दिवस को मनाने के पीछे का इतिहास और उद्देश्य?

शिक्षक दिवस क्यों मनाया जाता है। 

शिक्षक समाज का दर्पण होते हैं शिक्षक का पहला कर्तव्य विद्यार्थियों को सही दिशा प्रतीत करना होता है। शिक्षक के संघर्षों को सम्मानित करने के लिए ही मुख्य रूप से शिक्षक दिवस मनाया जाता है। मूल रूप से भारतीय संस्कृति में गुरु एवं शिष्य परंपरा का प्रभाव सदियों से रहा है लेकिन शिक्षक दिवस के माध्यम से आप सभी यह जानेंगे कि आजाद भारत में शिक्षक दिवस कब से मनाया जा रहा है। शिक्षक दिवस मिलने के पीछे का उद्देश्य क्या है और शिक्षक दिवस मनाने के संपूर्ण इतिहास के बारे में विस्तार से जानेंगे, शिक्षक दिवस की संपूर्ण जानकारी हासिल करने के लिए इस आर्टिकल को अंत तक पढ़े-

शिक्षक दिवस कब मनाया जाता है?

शिक्षक दिवस एक ऐसा दिवस है जिस दिन राष्ट्र निर्माण में शामिल सभी शिक्षकों को सम्मान किया जाता है। यदि भारत के संदर्भ में देखा जाए तो शिक्षकों के समान में प्रत्येक वर्ष शिक्षक दिवस 5 सितंबर को मनाया जाता है। डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्म दिवस पर भारत में शिक्षक दिवस मनाया जाता है। इसी तरह शिक्षक दिवस के माध्यम से पूरे विश्व में 5 सितंबर को शिक्षक दिवस मनाया जाता है?

शिक्षक दिवस क्यों मनाया जाता है?

डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन जो एक शिक्षाविद थे। पुरे समाज को शिक्षित करने एवं सभी युवाओं में राष्ट्रवाद के भावों को पैदा करने में उनका संपूर्ण जीवन व्यतीत हुआ उन्हीं के संघर्षों को सम्मानित करने एवं इस दिन ही राष्ट्र के मार्गों को सही दिशा में ले जाने में खड़े सभी शिक्षकों को सम्मानित करने के लिए 5 सितंबर को शिक्षक दिवस मनाया जाता है।

शिक्षक दिवस का संक्षिप्त इतिहास

आज के इस आर्टिकल के माध्यम से आप सभी को शिक्षक दिवस के इतिहास के बारे में संपूर्ण जानकारी मिलने जा रही है जो की सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जीवन पर आधारित है जैसा कि आप सभी जानते ही होंगे कि डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन जी बचपन से ही किताबें के अध्ययन करने के शौकीन थे डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन जी के जन्मदिन के शुभ अवसर को पूरे भारत में शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाने लगा है भारत में पहली बार शिक्षक दिवस जीवन भर भारत के सभी विद्यार्थियों को शिक्षित करने वाले डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन जी की निधन 17 अप्रैल 1975 को चेन्नई में हुई

शिक्षक दिवस मनाए जाने के उद्देश्य और महत्व

पूरे भारत में विद्यालयों एवं महाविद्यालय में शिक्षक दिवस 5 सितंबर को मनाई जाती है हालांकि बहुत से विद्यालय एवं महाविद्यालय में शिक्षक दिवस मनाए जाने के उद्देश्य एवं महत्व से अनजान होते हैं अगर आप भी शिक्षक दिवस मनाए जाने के उद्देश्य और महत्व से अनजान है तो नीचे पढ़ने के बाद आप सभी शिक्षक दिवस मनाए जाने के उद्देश्य और महत्व को जानेंगे

  1. शिक्षक दिवस मनाए जाने का उद्देश्य नई युवाओं को शिक्षा एवं शिक्षक के महत्व समझना है
  2. शिक्षक दिवस मनाए जाने का उद्देश्य नई युवाओं मे समर्पण भाव को पैदा करना है।
  3. शिक्षक दिवस मनाए जाने का उद्देश्य  राष्ट्र ने युवाओं को सद्मार्ग दिखाना है।
  4. शिक्षक दिवस को मनाए जाने का उद्देश्य समाज और सभ्यताओं का संरक्षण करना है।
  5. शिक्षक दिवस को मनाए जाने का उद्देश्य ज्ञान की ज्वाला जलाए रखना है।
  6. शिक्षक दिवस को मनाए जाने का उद्देश्य शिक्षा के प्रति समाज को जागरूक करना साथ ही शिक्षकों के संघर्षों को समर्थन देना है।

teacher day kyu manaya jata hai

Read More...

Leave a Comment